RBI के पास कितने पैसे है ? ⋆ Newsboy RBI के पास कितने पैसे है ? ⋆ Newsboy

RBI के पास कितने पैसे है ?

नमस्कार, तो कैसे है आप लोग।आज हम बात करने वाले है भारत के financial department ओर RBI यानी Reserve bank of India के बारे मे, की आखिर कैसे हमारे देश की अर्थव्यवस्था को Reserved bank of India संतुलन बनाए रखता है, RBI के पास कितना सोना है, RBI के पास कितना पैसा है, ओर हमारी देश की currency ओर विदेश की currencies मैं कैसे तालमेल बिठाया जाता है।

साथ ही हम आज इस बारे मे भी बात करेंगे कि सरकार क्यों बहोत सारे नोट यानी बहोत सारे पैसे छाप कर देश के सभी गरीब लोगों मे नही बाटती, अगर हमारे देश मैं इतनी गरीबी है तो हमारी सरकार ज्यादा नॉट(पैसों) को क्यों नही छापती है? आज हम इन सारे मुदो पर आपको बताएंगे।सबसे पहले बात करते हैं, नोटों की छपाई की, तो RBI Act 1934 के section के तहत Reserve bank of India(RBI) को बैंक नोट जारी करने के अधिकार दिए गए है। ओर रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया की जो श्रंखला ये काम यानी नोट छापने का काम करती है, उसे कहते हैं Bharatiya Reserve Bank Note Mudran Private limited.

भारत मे आखिर कहा नोटों की छपाई का काम किया जाता है?

अब बात करते हैं, की भारत मैं कहा नोटों की छपाई का काम किया जाता है, तो पैसे छापने के लिए भारत मैं चार 1 Phrase है।
1.मध्य प्रदेश के देवास जिले मे,
2.वेस्ट बंगाल में सलबोनि मैं,
3.कर्नाटक में मैसूर मैं, ओर
4.महाराष्ट्र के नासिक मैं
इन प्रिंटिंग प्रेस मैं से नासिक ओर देवास की प्रिंटिंग प्रेस का नियंत्रण भारत सरकार के पास है। ओर वही दूसरी ओर मैसूर ओर सलबोनि की प्रिंटिंग प्रेस का नियंत्रण RBI(reserve bank of India) के पास है।

अब बात करते है कि RBI नोट कब छापति है और हर साल RBI कितने नोट छापती है, ओर किस गणना के अनुसार नोटों की छपाई की जाती है?
तो साल के शुरुआत मैं ही ये तय हो जाता है कि इस बार कितने नॉट छापे जायेंगे, ओर कितने नोट छापने है, इसकी गणना RBI के 19 दफ्तरों के data ओर statics analysis के आधार पर किया जाता है

यानी कि नोट छपाई की गणना के लिए RBI ये देखती है कि पिछले साल कितने नॉट नस्ट किये गए थे और इस बार कितने नॉट बदले गए थे इन सब गणना के बाद RBI finance मंत्रालय की coin sent currency division से consulting meeting करती है ओर फिर फैसला किया जाता है कि इस बार कितने नोट छापे जाने है। फिर Reserve bank of India ये सारी गणना का data प्रिंटिंग प्रेस को देती है और उसके अनुसार प्रिंटिंग प्रेस पैसे छापती है।
अब बात करते है कि RBI कितना बड़ा यानी कितने तक का नोट छाप सकती है, तो RBI 10,000₹ तक का नोट छाप सकते हैं।

अब बात करते है सिको कि तो coinage act 1906 के अनुसार सिको को बनाने का काम या कहे सिको को बनाने का नियंत्रण भारत सरकार का होता है। भारत मैं सिको को बनाने का कार्य 4 जगह किया जाता है, कोलकाता के अलीपोर, हैदराबाद के चरलापली मैं, उत्तर प्रदेश के नोयडा मैं ओर हैदराबाद के सैफाबाद मैं। भारत सरकार 1000₹ तक का सिक्का बना सकती है।

RBI के पास कितना सोना है? ओर RBI के पास कितना सोना है?

तो अब बात करते है कि RBI के पास कितना पैसा है या कहे कि RBI का कितना RESERVE है तो RBI के पास कुल 4,669,426 crore रूपए है। ओर उतने रुपये का ही gold RBI के पास है।

अब बात करते की अगर सरकार ओर RBI के पास पैसे छापने के अधिकार है तो क्यों सरकार जितने चाहे उतने पैसे छाप लेती है।
तो सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि जो पैसे या currency नोट RBI बनाती है, वो नोट सिर्फ एक कागज होता है जो धारक को उसके सम्पति का वचन देता है एक asset, ओर RBI के द्वारा नोट जारी करने के बाद ये नोट RBI के लिए liability बन जाती है।


ओर इसी लिए नोट पर लिखा होता है Reserved Bank of India ओर governor के दस्तखत किए जाते है, पर अब आप ये सोच रहे होंगे कि RBI कै पास ऐसा क्या है कि वो नोट को एक सम्पति वचन के रूप मे जारी कर सकते है तो इसका जवाब है फॉरेन रिज़र्व ओर कीमती धातु सोने का अंबार, RBI उतने ही नोट छापती है जितने का सोना RBI के पास होता है, या जितना foreign reserve RBI के पास होगा।

तो ये ही मुख्य कारण है कि सरकार और RBI बहोत सारे नोट नही छापती, क्योंकि सरकार ओर RBI सिर्फ उतने ही नोट छाप सकती है जितने का सोना ओर foreign reserve उनके पास है।


अगर RBI ने उनके पास रखे सोने और foreign reserve से ज्यादा के नोट छापे तो नोटो की कीमत घट जाएगी और महंगाई बढ़ जायेगी। ओर हमारे भारत की currency के साथ भी वही होगा जो Venezuela की currency के साथ हुआ है, Venezuela की सरकार ने बहोत सारे बड़े नोट छाप दिए है, वहा एक लाख तक के नोट छाप दिए है इसके कारण वहा की currency की कीमत इतनी कम हो गयी कि वहाँ राशन लेने के लिए भी लाखो के नोट लेकर जाना पड़ता है। अब वहाँ के एक लाख की कीमत चवनि के बराबर है।

RBI पैसे कैसे कमाता है? या RBI का source of income क्या है?

तो अगर बात करे RBI की कमाई के साधन ओर तरीको की, तो RBI की कमाई के 3 साधन है।
जिनमे से पहला है

  • Open Market Operations:open market operations का ये मतलब होता की RBI बैंको से bond खरीदता है, ओर उनसे पैसे कमाता है, RBI उन bonds से ब्याज भी हासिल करता है और जब उन bonds की कीमत हो जाती है है तो RBI उन्हें बेच दिया करता है।
  • RBI की income का दूसरा साधन है foreign exchange:जी है RBI foreign Exchange से भी पैसे कमाता है यानी सस्ते दामो मैं dollar ख़रीद कर महंगे दामो मैं बेच दिया करता है।
  • इसके अलावा RBI की INCOME का तीसरा साधन है, बैंक loan ओर ब्याज।:जी हा loan interest, पर आप सोच रहे होंगे कैसे तो मैंने पहले भी कहा है कि RBI बैंको का भी बैंक है, तो जब किसी आम इंसान को LOAN चाहिए होता है तो वो बैंक से loan लेता है पर जब बैंको को loan चाहिए होता है तो वो RBI से loan लेता है और उस loan के बदले में RBI बैंको से ब्याज वसूल करती है।

READ MORE POST

STAY HOME STAY SAFE